Skandamata ( स्कंदमाता ) Aarti, Mantra, Bhog in Hindi

Skandamata-Statue-in-yellowish-color

Skandamata: स्कंद माता की आरती चैत्र मास शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि पर होती  है। इन माता की सवारी सिंह होती है और इनकी  गोद में छह मुख वाले स्कंदकुमार विराजमान होते है। 

इन माता की पूजा करके भक्तों को संतान की प्राप्ति होती है और माँ अपने आशीर्वाद से भक्तों के सारे  दुश्मनों का सर्वविनाश कर देती है। 
 
इस सुन्दर अवसर पर आपको नीचे दिए मंत्रो का पूजा करने के वक्त जाप करना चाहिए और माँ की आरती विधि विधानों के साथ करनी चाहिए।
 
ऐसा करने से आपको माँ का आशीर्वाद मिलेगा और अपनी मनोकामनाओ की पूर्ति होगी। 

स्कंदमाता का  स्तुति मंत्र/ Skandamata ka stuti mantra

या देवी सर्वभू‍तेषु मां स्कन्दमाता रूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

Ads

स्कंदमाता की प्रार्थना / Skandamata ki prarthana

सिंहासनगता नित्यं पद्माञ्चित करद्वया।
 

शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी॥

स्कंदमाता बीज मंत्र

ह्रीं क्लीं स्वमिन्यै नम:।

मंत्र

1. महाबले महोत्साहे। महाभय विनाशिनी।
 

त्राहिमाम स्कन्दमाते। शत्रुनाम भयवर्धिनि।।

Ads

2. ओम देवी स्कन्दमातायै नमः॥

स्कंदमाता की आरती/Skandamata Ki Aarti

जय तेरी हो स्कंदमाता।

पांचवां नाम तुम्हारा आता।
 

सब के मन की जानन हारी।

Ads

जग जननी सब की महतारी।

तेरी ज्योत जलाता रहूं मैं।

हर दम तुम्हें ध्याता रहूं मैं।

Ads

कई नामों से तुझे पुकारा।

मुझे एक है तेरा सहारा।
 

कहीं पहाड़ों पर है डेरा।

कई शहरो में तेरा बसेरा।

Ads

हर मंदिर में तेरे नजारे।

गुण गाए तेरे भक्त प्यारे।

Also, See

भक्ति अपनी मुझे दिला दो।

Ads
शक्ति मेरी बिगड़ी बना दो।
 
 
इंद्र आदि देवता मिल सारे।
 

करे पुकार तुम्हारे द्वारे।

दुष्ट दैत्य जब चढ़ कर आए।

तुम ही खंडा हाथ उठाएं

Ads

दास को सदा बचाने आईं

‘चमन’ की आस पुराने आई। 

भोग / Skandamata ka bhog

स्कंद माता को बताशे का भीग अर्पित करना चाहिए और पूजा के वक्त पान, सुपारी , लौंग का जोड़ा, कमलगट्टा और किसमिस चढ़ाना चाहिए।

Chaitra Navratri 2021 Dates

13  अप्रैल 2021: माता शैलपुत्री की पूजा नवरात्रि के पहले दिन की जाएगी। 

Ads

14 अप्रैल 2021माता ब्रह्मचारिणी की पूजा नवरात्रि के दूसरे दिन की जाएगी।

15 अप्रैल 2021 : माता चंद्रघंटा की पूजा नवरात्रि के तीसरे  दिन की जाएगी।

16 अप्रैल 2021 : माता कूष्मांडा की पूजा नवरात्रि के चौथे  दिन की जाएगी।

Ads

17 अप्रैल 2021: स्कंद माता की पूजा नवरात्रि के पांचवे  दिन की जाएगी।

18 अप्रैल 2021कात्यायिनी की पूजा नवरात्रि के छटवे  दिन की जाएगी।

19 अप्रैल 2021कालरात्रि की पूजा नवरात्रि के सातवें  दिन की जाएगी।

Ads

20 अप्रैल 2021 महागौरी की पूजा नवरात्रि के आठवें दिन की जाएगी।

21 अप्रैल 2021 : सिद्धिदात्री की पूजा नवरात्रि के नौवें  दिन की जाएगी।

और देखे :- Chaitra Navratri 2020: इस नवरात्रि में 400 सालों बाद बन रहा है ये महासंयोग |

Ads

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *