हिंदी

greeting cards for raksha bandhan

Top 186 Raksha Bandhan Quotes for your Golden Brother & Sister

Raksha Bandhan Wishes: This is a popular, traditionally Hindu, annual rite, or ceremony, which is central to a festival of the same name, celebrated in India, Nepal and other parts of the Indian subcontinent, and among people around the world influenced by Hindu culture. Below you will get the best Raksha Bandhan Wishes for your …

Top 186 Raksha Bandhan Quotes for your Golden Brother & Sister Read More »

illuminated-lamp-infront-of-the-lord-ganesha-replica-idol

Diwali in Hindi 2020 | दिवाली इतिहास, तारीख, क्यों मनाई जाती है |

Diwali in Hindi:- सबसे पहले, मैं आपको अपने दिल से आने वाली दिवाली की हार्दिक बधाई देना चाहता हूँ:) दिवाली इतना प्रसिद्ध त्यौहार है की  न केवल हिंदुओं द्वारा बल्कि जैन, सिखों और बौद्धों द्वारा भी यह उत्सव मनाया जाता है। यह त्योहार काली पूजा, बांदी चोर दिवस, तिहाड़, स्वाति, सोहराई और बंदना से संबंधित है। इस खूबसूरत …

Diwali in Hindi 2020 | दिवाली इतिहास, तारीख, क्यों मनाई जाती है | Read More »

Mahagauri-Mata-Image

( Mahagauri Mata ) माता महागौरी: पूजा का महत्व , मंत्र, आरती, स्वरुप.

Mahagauri Mata: नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की आराधना की जाती है। आदिशक्ति श्री दुर्गा का आठवाँ स्वरुप  माता महागौरी हैं। इन्हें महागौरी के नाम से इसलिए जाना जाता है क्योकि इनका रंग बहुत से साफ और गौरा है  । ऐसा माना जाता है की अपनी कठिन तपस्या से मां ने गौर वर्ण की प्राप्ति की थी।   तभी से इन्हें धन …

( Mahagauri Mata ) माता महागौरी: पूजा का महत्व , मंत्र, आरती, स्वरुप. Read More »

kalratri-mata-statue-painted-with-golden-color

Kalratri Mata (कालरात्रि): Swaroop, Kahani, Shlok, Mantra, Aarti.

Kalratri Mata: कालरात्रि माँ की पूजा नवरात्रि के सातवे दिन  की जाती है इन्हे माँ दुर्गा की सातवीं शक्ति भी कहा जाता है। कालरात्रि माँ की पूजा नवरात्रि के सातवे दिन  की जाती है इन्हे माँ दुर्गा की सातवीं शक्ति भी कहा जाता है। माता का स्वरुप बहुत ही आश्चर्यचकित और भयानक है परन्तु इनकी …

Kalratri Mata (कालरात्रि): Swaroop, Kahani, Shlok, Mantra, Aarti. Read More »

katyayani-maa-statue-painted-with-golden-color

Katyayani Maa ( कात्यायिनी ) Puja Vidhi, Mantra, Stuti, Swaroop : Navratri 2020

Katyayani Maa : नवरात्रि के छठे दिन  माँ कात्यायिनी की पूजा की जाती है। इनके जन्म के बारे में अलग अलग कहावत है स्कंद पुराण और वामन में। स्कंद पुराण में मान्यता है की देवी के  यह स्वरूप का जन्म प्रभु के नैसर्गिक  क्रोध के कारण हुआ था और वामन में यह लिखा गया है …

Katyayani Maa ( कात्यायिनी ) Puja Vidhi, Mantra, Stuti, Swaroop : Navratri 2020 Read More »

Skandamata-Statue-in-yellowish-color

Skandamata ( स्कंदमाता ) Aarti, Mantra, Bhog in Hindi

Skandamata: स्कंद माता की आरती चैत्र मास शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि पर होती  है। इन माता की सवारी सिंह होती है और इनकी  गोद में छह मुख वाले स्कंदकुमार विराजमान होते है।  इन माता की पूजा करके भक्तों को संतान की प्राप्ति होती है और माँ अपने आशीर्वाद से भक्तों के सारे  दुश्मनों का सर्वविनाश …

Skandamata ( स्कंदमाता ) Aarti, Mantra, Bhog in Hindi Read More »

kushmanda-devi

Kushmanda Devi: Aarti, Bali, Mantra, Shlok, Upasana.

इस समस्त संसार को जन्म देने वाली माता कुष्माण्‍डा की पूजा नवरात्रि के चौथे दिन की जाती है। माँ ने समस्त अंधकार का विनाश करके इस संसार की रचना की और  सृष्टि की रचना करने के लिए ही इनका नाम कुष्माण्‍डा अभिहित किया गया और इसलिए भी इनको आदिशक्ति भी कहा गया है।  माता की आठ भुजाएं  है इनमें से सात हाथो में क्रमशः कमण्डल, …

Kushmanda Devi: Aarti, Bali, Mantra, Shlok, Upasana. Read More »

Chandraganta-maa-statue-in-silver-color

Chandraghanta Maa ( चंद्रघंटा ): Mantra, Aarti, Katha, Roop, Song.

माँ चंद्रघंटा की पूजा नवरात्रि के तीसरे दिन की जाती है।  इन माँ का स्वरुप राक्षसों का खात्मा करने  ले लिए जाना जाता है।  वे अपने हाथो में गदा, धनुष , त्रिशूल अपने भक्तो के दुख संकट दूर करने के धारण किये रहती है और वह अपने सच्चे भक्त को यश, कीर्त, और शांति प्रदान करती है।  आगे जानिए …

Chandraghanta Maa ( चंद्रघंटा ): Mantra, Aarti, Katha, Roop, Song. Read More »

brahmacharini-maa

ब्रह्मचारिणी (Brahmacharini Maa) : मां दुर्गा का दूसरा स्वरूप, कहानी, श्लोक, उपासना |

माता ब्रह्मचारिणी की कहानी | Story of Brahmacharini Maa इन माता का नाम ब्रह्मचारिणी इसलिए पड़ा क्योकि इन्होने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए घोर तपस्या की थी।  इसकी वजह से इनका नाम  तपश्चारिणी मतलब  ब्रह्मचारिणी से अभिहित किया गया। ब्रह्मचारिणी शब्द ब्रह्म अर्थात्‌ तपस्या और चारिणी अर्थात्‌ तप का आचरण करने वाली से बना है। इन माता की पूजा अर्चना करने …

ब्रह्मचारिणी (Brahmacharini Maa) : मां दुर्गा का दूसरा स्वरूप, कहानी, श्लोक, उपासना | Read More »